पीला बुखार येलो फीवर का आयुर्वेदिक इलाज Natural Remedies Yellow Fever

By | February 21, 2018

पीला बुखार येलो फीवर का आयुर्वेदिक इलाज Ayurvedic Treatment for Yellow Fever in Hindi

पीला बुखार येलो फीवर का आयुर्वेदिक इलाज Natural Remedies Yellow Fever

पीला बुखार येलो फीवर का आयुर्वेदिक इलाज Natural Remedies Yellow Fever

नमस्कार दोस्तों | HIndi Raftaar में आपका स्वागत है | आज Hindi Raftaar आपके लिए लेकर आया है पीला बुखार येलो फीवर का आयुर्वेदिक इलाज, Best Natural Yellow Fever Treatment in Hindi ,पीला बुखार का आयुर्वेदिक इलाज, Effective Home Remedies for Yellow Fever, येलो फीवर का आयुर्वेदिक इलाज, Herbal Remedies For Yellow Fever in hindi, पित ज्वर की आयुर्वेदिक औषधि हिंदी में |

पीला बुखार येलो फीवर पित ज्वर एक ही बीमारी के नाम है | यह बीमारी एडिस नाम के मच्छर के काटने से होती है | ज्यादातर मच्छर पाए जाने वाले इलाके में या गंदे बिना साफ-सुथरे जगह यह एडिस मच्छर पाए जाते हैं | इसीलिए आसपास की जगह साफ रखें और मच्छर को येलो फीवर पीला बुखार मलेरिया डेंगू जैसी बिमारियों से दूर रखें |

Symptoms for Yellow Fever in Hindi पीले बुखार के लक्षण येलो फीवर के लक्षण :

  • सर में दर्द होना |
  • त्वचा का रंग पीला होना |
  • बहुत तेज ठंड लगना |
  • बुखार आना |
  • कमजोरी होना |
  • नींद ना आना |
  • खून की कमी होना |

Ayurvedic Remedies for Yellow Fever in Hindi पीला बुखार येलो फीवर का आयुर्वेदिक इलाज :

  • तुलसी और काली मिर्च :

तुलसी और काली मिर्च को थोड़ी मात्रा में लें और इसे पानी में डालकर उबालें | जब पानी आधा हो जाए तो वरना बंद करें और यह पानी शहद के साथ पीला बुखार पीड़ित व्यक्ति को | यह पानी पीने से पीला बुखार पीड़ित व्यक्ति को ऊर्जा प्राप्त होगी और कमजोरी दूर होगी | इसे दिन में दो से तीन बार |

  • काढ़ा है पीले बुखार की आयुर्वेदिक दवा :

येलो फीवर का आयुर्वेदिक इलाज करने के लिए हमें तुलसी नीम के पत्ते गिलोय सूखा अदरक को अच्छे से पीसना है और एक गिलास पानी डाल कर इसे उबालना है | जब पानी आधा हो जाए तो इसे उबालना बंद करना है | यह काढ़ा दिन में दो टाइम येलो फीवर पीड़ित व्यक्ति को दें | यह काढ़ा पीला बुखार येलो फीवर का रामबाण आयुर्वेदिक उपचार है |

  • नीम और गिलोय से पाए पीले बुखार से छुटकारा :

नीम और गिलोय का रस पीने से हर प्रकार का बुखार का इलाज होता है | नीम और गिलोय का सेवन करने से खून में बढ़ोतरी होती है और येलो फीवर से निजात प्राप्त होती है | नीम और गिलोय दोनों ही नेचुरल वस्तु है जिससे कई प्रकार की बुखार की आयुर्वेदिक दवा बाजार में उपलब्ध है |

Ayurvedic Medicine name for Yellow Fever in Hindi पीला बुखार येलो फीवर की आयुर्वेदिक दवाई :
  • इंदुकेंथ कश्यप पीले बुखार की आयुर्वेदिक दवा :

यह पीला बुखार येलो फीवर का आयुर्वेदिक औषधि है जो बुखार से निजात पाने का आयुर्वेद से बनाया हुआ तरीका है | इसका सेवन करने से शरीर में ऊर्जा प्राप्त होती है और शरीर में खून की कमी नहीं होती जिससे शरीर में थकावट सिर दर्द बुखार त्वचा का पीलापन दूर होता है | पीले बुखार से तुरंत राहत पाने के लिए यह एक बेहतर आयुर्वेदिक दवा है |

हमें उम्मीद है आपको Hindi Raftaar का पीला बुखार येलो फीवर का आयुर्वेदिक इलाज, Best Natural Yellow Fever Treatment in Hindi ,पीला बुखार का आयुर्वेदिक इलाज, Natural Remedies for Yellow Fever, येलो फीवर का आयुर्वेदिक इलाज, Herbal Remedies For Yellow Fever in hindi, पित ज्वर की आयुर्वेदिक औषधि हिंदी में पसंद आया हो |

सूखी खांसी का आयुर्वेदिक उपचार How to Treat Dry Cough Naturally in hindi

बंद नाक का आयुर्वेदिक उपचार Blocked Nose Ayurvedic Treatment in hindi

एसिडिटी का आयुर्वेदिक उपचार Ayurvedic Treatment for Acidity in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *